नया साल मनाने के लिए उत्तराखंड पहाड़ों के 5 बेहतरीन पर्यटक स्थान। 5 Best Pahadi Tourist Places to Celebrate New Year 2023 in Uttarakhand |

0
419

उत्तराखंड के इन पहाड़ी स्थानों पर मनाएं न्यू ईयर 2023 | Celebrate New Year 2023 in these 5 Best Pahadi Tourist places of Uttarakhand |

Best Pahadi Tourist Places to Celebrate New Year in Uttarakhand in hindi

नए साल के पहले दिन काफी पर्यटक देश के अलग-अलग स्थानों से  उत्तराखंड के पहाड़ी स्थानों पर घूमने के लिए आते रहते हैं। नए साल के पहले दिन को यादगार बनाने के लिए उत्तराखंड के पहाड़ी स्थानों में घूमने के लिए आना काफी अच्छा विकल्प हो सकता है। क्योंकि मौसम सर्दियों का है तो नए साल की शुरुआत के दौरान उत्तराखंड में ठंड अपने शिखर पर होगी। अगर मौसम ने साथ दिया तो काफी पहाड़ी जगहों पर पर्यटक बर्फवारी

का लुफ्त भी उठा सकते हैं। आज हम उत्तराखंड के ऐसे ही कुछ पहाड़ी स्थानों के बारे में जानेंगे जहां आप नए साल को सेलिब्रेट करने के लिए आसानी से घूमने जा सकते हैं।

1: मसूरी और धनौल्टी | Mussoorie and Dhanaulti during New Year Celebration 2023 |

mussoorie Best Pahadi Tourist Places to Celebrate New Year in Uttarakhand in hindi

नए साल के लिए उत्तराखंड पहाड़ों में घूमने के 5 बेहतरीन स्थानों में मसूरी को सबसे पहले रखना एक सामान्य सी बात है। मसूरी उत्तराखंड का सबसे ज्यादा पसंदीदा हिल स्टेशन है। वैसे तो मसूरी की पहाड़ियों में साल के हर समय पर्यटक घूमने आते रहते हैं, लेकिन नए साल की शुरुआत में मसूरी की पहाड़ियों में आना काफी रोमांचक हो जाता है। नए साल की शुरुआत के दौरान मसूरी में ठंड सबसे ज्यादा होती है। मसूरी से लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर धनौल्टी स्थान भी नए साल के दौरान पर्यटकों से भरा रहता है। मसूरी और धनौल्टी समुद्र तल से लगभग एक जैसी ऊंचाई पर हैं। जहां मसूरी लगभग 2000 मीटर की ऊंचाई पर है, वहीं धनौल्टी लगभग 2200 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

नया साल मनाने मसूरी और धनौल्टी में हजारों की संख्या में देश विदेश के पर्यटक पहुचंते हैं। पर्यटकों की संख्या का अनुमान इस बात से लगाया जा सकता है कि नए साल शुरू होने के हफ्तों पहले से ही यहां के होटल, कैम्प आदि बुक होने लग जाते हैं। समय पर होटल बुक न करने वाले पर्यटकों को होटल, कैम्प की सुविधा मिलना मुश्किल हो जाता है। सर्दियों के दौरान मसूरी और धनौल्टी का तापमान काफी गिर जाता है। इस दौरान काफी बार मसूरी और धनौल्टी में बर्फवारी भी देखी जाती है।

dhanaulty mussoorie best pahadi places for new year celebration in Uttarakhand in hindi

सर्दियों में मसूरी और धनौल्टी से देहरादून शहर के ऊपर दिखने वाली विंटर लाईन को भी देखा जा सकता है। दुनिया में यह विंटर लाईन स्विट्जरलैंड के बाद मसूरी में ही देखने को मिलती है। मसूरी की पहाड़ी वादियों की लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि आये दिन यहां बॉलीवुड की काफी सारी फिल्मों की शूटिंग होती रहती है। शायद यही कारण है कि मसूरी को पहाड़ों की रानी के नाम से जाना जाता है।

winter line during new year celebration in mussoorie uttarakhand best places

मसूरी और धनौल्टी कैसे पहुंचे? How to reach Mussoorie and Dhanaulti from Dehradun?

मसूरी पहुंचने के लिए पर्यटकों को सबसे पहले देहरादून पहुँचना होता है। देहरादून से मसूरी की सड़क दूरी मात्र 40 किलोमीटर है। सड़क पहाड़ी रास्तों से होकर पहुँचती है जो कि काफी अच्छी है और यात्री इस सफर को मात्र 45-60 मिनट में पूरा कर सकते हैं। लेकिन भारी मात्रा में पर्यटक यहां पहुंचने के कारण ट्रैफिक जैम और पार्किंग में असुविधा देखने को मिलती है।

मसूरी से धनौल्टी की सड़क मार्ग दूरी लगभग 60 किलोमीटर है। मसूरी से धनौल्टी की सड़क अच्छी है लेकिन सिंगल लेन होने के कारण पर्यटकों को ट्रेफिक जाम मिल सकता है।

2: नैनीताल | Celebrate New Year 2023 in Nainital |

nainital Best Pahadi Tourist Places to Celebrate New Year in Uttarakhand in hindi

उत्तराखंड के प्रमुख पर्यटक स्थानों की बात हो और नैनीताल का नाम ना लिया जाए, ऐसा कैसे हो सकता है। नैनीताल भी उत्तराखंड का बहुत अधिक जाना जाने वाला हिल स्टेशन है जहां हजारों-लाखों की संख्या में हर साल पर्यटक पहुंचते रहते हैं। नए साल का पहला दिन नैनीताल में गुजारना भी काफी अच्छा विकल्प है। चारों तरफ से पहाड़ों से घिरी नैनी झील को देखना ही काफी रोमांचक बात है। नैनीताल भी नए साल के दौरान काफी व्यस्त रहता है। अगर पर्यटक समय पर होटल बुक न करवा आये तो शायद होटल मिलना मुश्किल हो सकता है।

नैनीताल कैसे पहुंचे? How to reach Nainital from Dehradun?

best places for new year celebration in Uttarakhand in hindi
नैनीताल पहुँचने का सबसे अच्छा तरीका हल्द्वानी से नैनीताल है। हल्द्वानी से नैनीताल की सड़क दूरी लगभग 43 किलोमीटर की है। हल्द्वानी से नैनीताल की सड़क काफी अच्छी है जो पहाड़ों से होकर पहुंचती है। यह सफर लगभग 1 घंटे में पूरा किया जा सकता है।

3: ऋषिकेश | Rishikesh during New Year Celebration |

ऋषिकेश को योगनगरी के नाम से जाना जाता है। गंगा नदी के किनारे  बसा यह सुंदर स्थान योगनगरी के साथ साथ देवनगरी भी मानी जाती है। यहां काफी सारे मंदिर, आश्रम, कैम्प, कॉटेज, होटल और आसपास के पर्यटक स्थान हैं जहां हर साल लाखों पर्यटक घूमने आते हैं। ऋषिकेश के पास शिवपुरी, लक्ष्मण झूला, गोवा बीच, और काफी सारे वाटर फॉल हैं जहां पर्यटक घूमने जा सकते हैं।

best places for new year celebration in Uttarakhand in hindi

इसके अलावा नए साल के दौरान पर्यटक ऋषिकेश में रिवर राफ्टिंग और अन्य साहसिक खेलों का भी आनंद ले सकते हैं। यहां काफी सारी कंपनियां है जो इस तरह के साहसिक खेलों के लिए पर्यटकों को काफी सुविधाएं देती हैं।

ऋषिकेश कैसे पहुंचे? How to reach Rishikesh?

देहरादून से ऋषिकेश की सड़क मार्ग दूरी लगभग 40 किलोमीटर है। रेल मार्ग से ऋषिकेश पहुंचने का सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन ऋषिकेश रेलवे स्टेशन है। हवाई मार्ग से ऋषिकेश पहुंचने का निकटतम हवाई अड्डा देहरादून का जॉलीग्रांट हवाई अड्डा है।

MUST READ ऋषिकेश ट्रेवल गाइड | Rishikesh Distance and Travel Guide in Hindi |

4: चोपता | Chopta in New Year Celebration |

chopta best places for new year celebration in Uttarakhand in hindi

चोपता, उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में पड़ने वाला एक काफी चर्चित पर्यटक स्थान है। समुद्र तल से लगभग 2608 मीटर की ऊंचाई पर स्थित चोपता से प्रसिद्ध तुंगनाथ मंदिर के लिए पैदल ट्रेक निकलता है। चोपता खुली वादियों में बसा एक छोटा सा पर्यटक स्थान है जहां नए साल के दौरान बर्फ के नजारे लिए जा सकते हैं। यहां काफी सारे कॉटेज, हट और कैम्प हैं जहां पर्यटक आसानी से बुकिंग करवा कर रुक सकते हैं।

चोपता कैसे पहुंचे? How to reach Chopta from Dehradun?

best places for new year celebration in Uttarakhand in hindi

चोपता पहुंचने के लिए देहरादून से केदारनाथ मार्ग पर निकलना होता है। इसके बाद देवप्रयाग, श्रीनगर होते हुए रुद्रप्रयाग से थोड़ा आगे कुंड नाम के स्थान से दांयी ओर की सड़क पर निकलकर ऊखीमठ पहुंचते हैं। ऊखीमठ से चोपता की सड़क मार्ग दूरी लगभग 44 किलोमीटर है जिसे 1.5 घंटे में पूरा कर सकते हैं। देहरादून से चोपता की दूरी लगभग 200 किलोमीटर है जिसे तय करने में 6-7 घण्टे लगते हैं।

ALSO READ चोपता-तुंगनाथ ट्रेवल गाइड | Chopta-Tungnath Travel and Distance Guide in Hindi |

5: औली | Auli: Best Place To Celebrate New Year |

auli best places for new year celebration in Uttarakhand in hindi

उत्तराखंड के प्रमुख पहाड़ी पर्यटक स्थानों में से एक औली, चमोली जिले में स्थित एक बुग्याल है जो समुद्र तल से 2,909 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। बर्फ से घिरी चोटियां, बुग्याल, देवदार की खुशबू से महकती घाटी और ठंडक यहां का प्रमुख आकर्षण है। इसके साथ ही औली, स्कीईंग के लिए काफी चर्चित है। इसके अतिरिक्त औली की सुंदर पहाड़ियों के बीच बनाई कृत्रिम झील(Artificial Lake) विश्व की सबसे ऊंचाई पर स्थित झीलों में से एक है। आज के समय औली उत्तराखंड के चर्चित पर्यटक स्थानों में से एक है। यहां पहुंचने वाले पर्यटकों की मानें तो उनके लिए यह एक स्वर्ग के समान है। नए साल के दौरान यहां बर्फ का होना सामान्य बात है।

औली कैसे पहुंचे? How to reach Auli from Dehradun?

best places for new year celebration in Uttarakhand in hindi

देहरादून से सड़क मार्ग द्वारा औली पहुंचने के लिए लगभग 300 किलोमीटर का सफर तय करना होता है। देहरादून से औली पहुंचने का सबसे अच्छा तरीका टैक्सी या कैब लेना रहता है। देहरादून से औली के लिए कोई डायरेक्ट बस सेवा नही है।

सभी पर्यटक ध्यान दें कि न्यू ईयर के दौरान ऊपर बताए उत्तराखंड के सभी पहाड़ी पर्यटक स्थानों पर तापमान काफी हद तक गिर सकता है। जनवरी के महीना सर्दियों का सबसे सर्द महीना माना जाता है इसलिए सभी यात्रियों को अपने साथ सर्दी के पूरे कपड़े और अन्य आवश्यक सामान लेकर आना यहां पहुंचना चाहिए।

 उत्तराखंड में घूमने के 10 बेहतरीन स्थान | Top 10 places to visit in Uttarakhand |

*** सुंदरता का पूरा लुफ्त उठाएं लेकिन कृपया गंदगी न करें और स्थानीय लोगों की निजता का ध्यान रखें।***

हमारे फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।
हमारे इंस्टाग्राम पेज को फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करें।