Homeउत्तराखंडकेदारनाथ से बद्रीनाथ के बीच घूमने के अच्छे स्थान | Best places...

केदारनाथ से बद्रीनाथ के बीच घूमने के अच्छे स्थान | Best places to visit on Kedarnath to Badrinath road in Hindi |

केदारनाथ से बद्रीनाथ के बीच घूमने के अच्छे स्थान | Best places to visit between Kedarnath and Badrinath in Hindi |

 केदारनाथ और बद्रीनाथ उत्तराखंड चार धाम यात्रा के प्रमुख मंदिर हैं। उत्तराखंड चार धाम यात्रा के दौरान लाखों लोग केदारनाथ दर्शन के बाद बद्रीनाथ पहुँचते हैं। केदारनाथ से बद्रीनाथ मार्ग पर पर्यटकों के घूमने के लिए काफी अच्छे स्थान हैं। इस मार्ग की न्यूनतम दूरी 245 किलोमीटर है जिसमें केदारनाथ से गौरीकुंड तक का 18 किलोमीटर पैदल ट्रेक भी शामिल है। गौरीकुंड से बद्रीनाथ की दूरी तय करने में लगभग 7-8 घंटे का समय लग जाता है। आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि केदारनाथ से बद्रीनाथ सड़क मार्ग पर पड़ने वाले वो कौन से पर्यटक स्थान हैं जहाँ हर पर्यटक को जाना चाहिए।

 

1: चौराबाड़ी ताल और वासु की ताल | Chorabari Lake and Vasuki tal | Tourist places to visit on Kedarnath to Badrinath road |

केदारनाथ से ऊपर लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर चोराबाड़ी ताल है। यहाँ गाँधी जी की अस्थियां विसर्जित की गयी थी इसलिए इसे गांधी सरोवर ताल के नाम से भी जाना जाता है। चोराबाड़ी ताल, बमक ग्लेशियर से बनी एक सुंदर झील है। चोराबारी ताल समुद्र तल से 3,900 मीटर की ऊंचाई पर स्थित साफ़ पानी की एक छोटी सी झील है। यहाँ से आसपास के हिमालय की चोटियों के शानदार दृश्य देखने को मिलते हैं। पौराणिक कथाओं के अनुसार, इस झील के पास भगवान शिव ने सप्तऋषियों को योग का ज्ञान दिया था। झील तक पहुँचने के लिए केदारनाथ से लगभग 3 किलोमीटर का पैदल ट्रेक है। इस ट्रेक को सुबह जल्दी कर लेना चाहिए क्योंकि यहाँ का मौसम तेजी से बदलता है। 3 किमी का ट्रेक केदारनाथ के लोहे के पुल से शुरू होता है और गांधी सरोवर(चोराबाड़ी झील) पर समाप्त होता है। ट्रेक आसान है।

tourist places between kedarnath badrinath route

 केदारनाथ से ऊपर लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर वासुकी ताल है। वासुकी झील केदारनाथ की खूबसूरत पहाड़ियों में समुद्र तल से लगभग 4135 मीटर की ऊंचाई पर स्थित एक मनमोहक झील है। वासुकी ताल ट्रेक उत्तराखंड के प्रसिद्ध ट्रेक में से एक है। माना जाता है कि यह वह झील है जहां भगवान विष्णु ने प्राचीन काल में स्नान किया था। झील के पास से चौखंबा चोटियों का मनमोहक दृश्य दिखता है। वासुकी ताल क्षेत्र में काफी सारे फूल देखने को मिलते हैं, साथ ही यहां ब्रह्म कमल भी खिलते है। सर्दियों के दौरान यह झील पूरी तरह से जम जाती है। वासुकी ताल काफी बड़ा है और यहाँ तक पहुँचने का ट्रेक भी मुश्किल माना जाता है। 8 किलोमीटर के इस ट्रेक को करने के लिए अनुभवी ट्रेकर्स और ट्रेकिंग गाइड का होना जरूरी है। वासुकी ताल ट्रेक करने का सबसे अच्छा समय मई से अक्टूबर तक है। इसके बाद यहाँ भारी बर्फवारी होती है।

2: त्रियुगीनारायण मंदिर | Triyuginarayan Temple | Tourist places to visit on Kedarnath to Badrinath road |

केदारनाथ से बद्रीनाथ रोड पर त्रियुगीनारायण मंदिर, समुद्र तल से लगभग 1980 मीटर की ऊंचाई पर सोनप्रयाग से लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह मंदिर भगवान् विष्णु को समर्पित है। माना जाता है कि भगवन शिव और माता पार्वती का विवाह इसी स्थान पर हुआ था। आज भी लोग इस मंदिर में शादी करने पहुँचते हैं। मंदिर में एक अग्निकुंड है। माना जाता है कि अग्निकुंड में त्रेतायुग से यह अग्नि जल रही है। त्रियुगीनारायण एक सुन्दर गाँव भी है। यहाँ से गंगोत्री के लिए पैदल ट्रेक भी निकलता है जो 200 किलोमीटर से भी अधिक का हो सकता है। त्रियुगीनारायण पहुँचने के लिए सोनप्रयाग से लोकल टैक्सी मिल जाती है। यहाँ काफी सारे होटल, रेसोर्ट और कॉटेज भी हैं।

tourist places between kedarnath badrinath route

निकटतम बस/टैक्सी स्टैंड: सोनप्रयाग

निकटतम हवाई अड्डा: जॉलीग्रांट, देहरादून

निकटतम हैलीपैड: फाटा

निकटतम रेलवे स्टेशन: ऋषिकेश

3: गुप्तकाशी | Guptkashi | Tourist places to visit on Kedarnath to Badrinath road |

गुप्तकाशी, केदारनाथ मार्ग से लगा हुआ एक सुन्दर क़स्बा है जहाँ का मुख्य आकर्षण यहाँ के प्राचीन मंदिर विश्वनाथ मंदिर, अर्धनारेश्वर मंदिर और मणिकर्णिक कुंड हैं। माना जाता है कि मणिकर्णिक मंदिर में गंगा और यमुना नदियां मिलती हैं। सोनप्रयाग से गुप्तकाशी  मार्ग दूरी लगभग 30 किलोमीटर है। गुप्तकाशी में रुकने के लिए हर तरह की सुविधा उपलब्ध है।
best places to visit on kedarnath to badrinath road

निकटतम बस/टैक्सी स्टैंड: गुप्तकाशी

निकटतम हवाई अड्डा: जॉलीग्रांट, देहरादून

निकटतम हैलीपैड: गुप्तकाशी

निकटतम रेलवे स्टेशन: ऋषिकेश

4: उखीमठ | Ukhimath | Tourist places to visit on Kedarnath to Badrinath road |

केदारनाथ से बद्रीनाथ पर सोनप्रयाग से लगभग 42 किलोमीटर और गुप्तकाशी से लगभग 12 किलोमीटर की दूरी पर उखीमठ स्थान पड़ता है। उखीमठ में स्थित ओम्कारेश्वर मंदिर में बाबा केदार का शीतकालीन प्रवास होता है। इसके साथ ही यह मंदिर मध्यमेश्वर मंदिर का भी शीतकालीन प्रवास है।
best places to visit on kedarnath to badrinath road
ओम्कारेश्वर मंदिर

निकटतम बस/टैक्सी स्टैंड: उखीमठ

निकटतम हवाई अड्डा: जॉलीग्रांट, देहरादून

निकटतम हैलीपैड: गुप्तकाशी

निकटतम रेलवे स्टेशन: ऋषिकेश

5: देवरिया ताल | Deoria tal | Tourist places to visit on Kedarnath to Badrinath road |

केदारनाथ से बद्रीनाथ मार्ग पर स्थित देवरिया ताल, उखीमठ से चोपता मार्ग पर सारी गाँव से 3 किलोमीटर की दूरी पर है। 3 किलोमीटर की यह दूरी पैदल ट्रेक हैं। देवरिया ताल एक सुन्दर प्राकृतिक झील है जो पहाड़ के ऊपर एक छोटे बुग्याल के बीच बनी है। देवरिया ताल से दिखने वाली चौखम्बा की सुन्दर चोटियां अद्भुत नजारा देती हैं। चौखम्बा चोटियों की झील में बनने वाली प्रतिबिम्ब एक ऐसा नजारा पेश करती हैं जो आपने शायद ही कभी देखा हो। देवरिया ताल का ट्रेक आसान है जिसे 1-2 घंटे में किया जा सकता है। देवरिया ताल पर्यटकों के लिए साल भर खुला रहता है। यहाँ रुकने के लिए पर्यटक, वापस सारी गांव पहुँच सकते हैं।
best places to visit on kedarnath to badrinath road

निकटतम बस/टैक्सी स्टैंड: उखीमठ

निकटतम हवाई अड्डा: जॉलीग्रांट, देहरादून

निकटतम हैलीपैड: गुप्तकाशी

निकटतम रेलवे स्टेशन: ऋषिकेश

6: चोपता | Chopta | Tourist places to visit on Kedarnath to Badrinath road |

केदारनाथ से बदीनाथ मार्ग पर पड़ने वाला स्थान, चोपता पर्यटकों के बीच सबसे अधिक प्रसिद्ध है। उखीमठ से चोपता की सड़क मार्ग दूरी लगभग 45 किलोमीटर है जिसे पूरा करने में 2 घंटे लग जाते हैं। चोपता एक बुग्याली क्षेत्र है। हर साल हजारों पर्यटक चोपता पहुँचते हैं और यहाँ की सुन्दर वादियों का लुफ्त उठाते हैं। सर्दियों के दौरान चोपता में भारी बर्फवारी भी होती है। चोपता से प्रसिद्ध तुंगनाथ मंदिर के लिए ट्रेक की शुरुआत होती है। चोपता में रुकने के लिए सभी सुविधाएँ उपलब्ध हैं।

निकटतम बस/टैक्सी स्टॉप : चोपता

निकटतम हवाई अड्डा: जॉलीग्रांट, देहरादून

निकटतम हैलीपैड: गुप्तकाशी

निकटतम रेलवे स्टेशन: ऋषिकेश

7: तुंगनाथ मंदिर और चंद्रशिला ट्रेक | Tungnath temple and Chandrashila Trek | Tourist places to visit on Kedarnath to Badrinath road |

केदारनाथ से बद्रीनाथ मंदिर मार्ग पर पड़ने वाला तुंगनाथ मंदिर, उत्तराखंड पंचकेदार मंदिरों में से एक है। तुंगनाथ मंदिर समुद्र तल से लगभग 3680 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। तुंगनाथ मंदिर पहुँचने के लिए  लगभग 3.5 किलोमीटर का आसान पैदल ट्रेक है। तुंगनाथ मंदिर से लगभग 1.5 किलोमीटर आगे चंद्रशिला चोटी है। तुंगनाथ से चंद्रशिला ट्रेक थोड़ा मुश्किल ट्रेक है। तुंगनाथ मंदिर में भगवन शिव के ह्रदय और भुजाओं की पूजा होती है।

निकटतम बस/टैक्सी स्टॉप : चोपता

निकटतम हवाई अड्डा: जॉलीग्रांट, देहरादून

निकटतम हैलीपैड: गुप्तकाशी

निकटतम रेलवे स्टेशन: ऋषिकेश

8: गोपेश्वर | Gopeshwar | Tourist places to visit on Kedarnath to Badrinath road |

केदारनाथ से बद्रीनाथ के बीच पड़ने वाला गोपेश्वर स्थान एक सुन्दर पहाड़ी नगर है। पहाड़ के ऊपर दोनों तरफ बसा यह नगर समुद्र ताल से 1380 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। गोपेश्वर, चमोली जिले में पड़ता है और जिले का मुख्यालय है। गोपेश्वर में स्थित भगवान शिव का प्राचीन गोपीनाथ मंदिर यहाँ का आकर्षण का केंद्र है।
निकटतम बस/टैक्सी स्टैंड: गोपेश्वर

निकटतम हवाई अड्डा: जॉलीग्रांट, देहरादून

निकटतम हैलीपैड: गोपेश्वर

निकटतम रेलवे स्टेशन: ऋषिकेश

9: जोशीमठ | Joshimath | Tourist places to visit on Kedarnath to Badrinath road |

जोशीमठ एक पवित्र शहर है जो बद्रीनाथ मार्ग पर समुद्र तल से लगभग 1875 मीटर की ऊंचाई पर चमोली में स्थित है। जोशीमठ से लगभग 45 किलोमीटर आगे बद्रीनाथ मंदिर है। बद्रीनाथ धाम की वजह से जोशीमठ काफी प्रसिद्ध है। इसके साथ ही जोशीमठ का प्रसिद्ध नरसिंह मंदिर यहाँ का आकर्षण का केंद्र है। जोशीमठ में रोपवे का लुफ्त भी उठाया जा सकता है। जोशीमठ से कुछ दूरी पर प्रसिद्ध पर्यटक स्थल औली भी है।
निकटतम बस/टैक्सी स्टैंड: जोशीमठ

निकटतम हवाई अड्डा: जॉलीग्रांट, देहरादून

निकटतम हैलीपैड: गोपेश्वर

निकटतम रेलवे स्टेशन: ऋषिकेश

10:फूलों की घाटी और हेमकुंड साहिब | Flower’s valley and Hemkund sahib | Tourist places to visit on Kedarnath to Badrinath road |

समुद्र तल से लगभग 3600 मीटर की ऊंचाई पर स्थित फूलों की घाटी, चमोली जिले में स्थित है। फूलों की घाटी एक राष्ट्रीय उद्यान है जो 87.50 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला है। फूलों की घाटी चमोली में लगभग 350 से भी अधिक फूलों की प्रजातियां हैं। यहाँ पहुंचने के लिए गोविंदघाट पहुंचना। जोशीमठ से गोविंदघाट की दूरी लगभग 20 किलोमीटर है। सड़क मार्ग का अंतिम पड़ाव पुलना गाँव है जहां से 10 किलोमीटर दूर घांघरिया है। घांघरिया से 3-4 किलोमीटर का पैदल ट्रेक फूलों की घाटी के बीच ले जाता है।

best places to visit on kedarnath to badrinath road

हेमकुंड साहिब सिखों का एक महत्वपूर्ण तीर्थस्थल है जो समुद्र 4329 मीटर की ऊंचाई पर चमोली जिले में है। हेमकुंड साहिब का वर्णन सिखों के गुरु गोविन्द सिंह द्वारा लिखे दसम ग्रन्थ में किया गया है। हेमकुंड साहिब का पैदल ट्रेक भी घांघरिया से ही शुरू होता है।

tourist places between kedarnath badrinath route

निकटतम बस/टैक्सी स्टैंड: जोशीमठ और गोविंदघाट

निकटतम हवाई अड्डा: जॉलीग्रांट, देहरादून

निकटतम हैलीपैड: गोपेश्वर

निकटतम रेलवे स्टेशन: ऋषिकेश

ऊपर बताये गए 10 स्थान केदारनाथ-बद्रीनाथ सड़क मार्ग पर पड़ने वाले सबसे अच्छे स्थान हैं। अगर आप भी  अन्य खूबसूरत स्थान में जानते हैं तो नीचे कमेंट में बताना न भूलें।

___________________________________________________________

पहाड़ की और भी झलकियां और जानकारियां देखें।

हमारे फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।
हमारे इंस्टाग्राम पेज को फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

पहाड़ीGlimpse के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular