Homeपहाड़ी पर्यटक स्थानउत्तरकाशी जिला, उत्तराखण्ड | Uttarkashi Uttarakhand Complete How to reach Guide In...

उत्तरकाशी जिला, उत्तराखण्ड | Uttarkashi Uttarakhand Complete How to reach Guide In Hindi |

उत्तरकाशी जिले का वर्णन | Uttarkashi District Brief Introduction |

उत्तरकाशी जिला, उत्तराखण्ड के पहाड़ी जिलों में से एक है, जो यमुनोत्री धाम, गंगोत्री धाम और महासू देवता मंदिर हनोल जैसे पवित्र मंदिरों के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है। भारत की दो सबसे प्रसिद्ध तथा पवित्र नदियाँ, गंगा और यमुना नदी का उद्गम स्थान भी जिला उत्तरकाशी में ही है। इनके अलावा, उत्तरकाशी जिला अपने मौसम, जलवायु स्थिति, पहाड़ों, नदियों, झरनों, ट्रेकिंग स्थानों, बुग्यालों, साहसिक खेलों के स्थानों,
पर्वतारोहण, मंदिरों और अन्य दर्शनीय स्थलों के लिए भी काफी लोकप्रिय है। प्रत्येक वर्ष देश तथा दुनियाभर से भारी संख्या में पर्यटक उत्तरकाशी के विभिन्न पर्यटक स्थानों पर घूमने के लिए आते रहते हैं।
uttarkashi weather in hindi
भागीरथी नदी के किनारे स्थित उत्तरकाशी

मुख्यालय उत्तरकाशी का वर्णन | Uttarkashi Brief Introduction |

उत्तरकाशी 1158 मीटर (3800 फीट) समुद्र तल से ऊपर, एक शहर है जो कि उत्तरकाशी जिले का मुख्यालय भी है. यह भागीरथी नदी के दोनों किनारों पर और वारुणी पर्वत की तलहटी में स्थित है। प्रसिद्ध विश्वनाथ मंदिर भी उत्तरकाशी शहर में ही स्तिथ है। उत्तरकाशी, जैसा कि इसके नाम से पता चलता है, “उत्तर भारत के काशी” के रूप में भी जाना जाता है। प्रसिद्ध गंगोत्री धाम और अन्य कई पर्यटक स्थलों के मार्ग का एक पड़ाव होने के कारण उत्तरकाशी शहर में बहुत सारी धर्मशालाएं, आश्रम और होटल भी हैं।
uttarkashi weather in hindi
भागीरथी नदी के किनारे स्थित उत्तरकाशी
उत्तरकाशी शहर का मुख्य बाजार वरुणावत पर्वत की तलहटी में बसा हुआ है। साल 2003 में वरुणावत पर्वत में अचानक से हुए भूस्खलन ने उत्तरकाशी बाजार में काफी तबाही मचाई। माना जाता है कि साल 1991 में आये खतरनाक भूकंप से वरुणावत पर्वत में कुछ दरारें आ गई थी। जिससे समय-समय पर छोटे-छोटे भूस्खलन आते रहे। लेकिन साल 2003 में बड़े-बड़े बोल्डर पत्थरों के गिरने से काफी सारे भवन, होटल और दुकाने ध्वस्त हो गई थी। तबाही के इस सिलसिले को रोकने की काफी कोशिश की गई लेकिन सरकार द्वारा काफी उपाय करने के बावजूद भी यह भूस्खलन सालों तक चलता रहा।
अब तमाम कोशिशों के बाद आज वरुणावत पर्वत के भूस्खलन पर काबू पा लिए गया है।
 
uttarkashi varunavat parvat in hindi
वरुणावत पर्वत, साल 2020 में

उत्तरकाशी का मौसम और तापमान | Uttarkashi Weather And Temperature |

उत्तरकाशी पूरी तरह से एक पहाड़ी जिला है इसलिए उत्तरकाशी का मौसम लगभग पूरे साल, ज्यादातर गर्मियों में बहुत सुहावना रहता है। लेकिन सर्दियों में आप यहाँ काफी अधिक ठण्ड का अनुभव कर सकते हैं, क्योंकि अधिकतर स्थानों पर तापमान -5℃ से -10℃ तक या इससे भी कम चला जाता है।

  UTTARKASHI WEATHER

गर्मियों में उत्तरकाशी का तापमान(अप्रैल से जून तक) | Uttarkashi Temperature In Summer |

अधिकतम: लगभग 35℃
न्यूनतम: लगभग 10℃

मानसून में उत्तरकाशी का तापमान(जुलाई से सितंबर तक) | Uttarkashi Temperature In Monsoon |

अधिकतम: लगभग 25℃
न्यूनतम: लगभग 8-10 ℃

सर्दियों में उत्तरकाशी का तापमान(अक्टूबर से फरवरी तक) | Uttarkashi Temperature In Winter |

अधिकतम: लगभग 20℃
न्यूनतम: लगभग 0℃ और कम

 

उत्तरकाशी जाने का सबसे अच्छा समय | Best Time To Visit Uttarkashi |

उत्तराखण्ड चार धाम यात्रा के दौरान अधिकांश पर्यटक उत्तरकाशी के यमुनोत्री और गंगोत्री मंदिर जाते हैं। चार धाम यात्रा के कारण, उत्तरकाशी के अधिकतर स्थानों, मार्गों और मंदिरों में अप्रैल महीने से अक्टूबर महीने तक भारी भीड़ होती है। इसके अलावा बहुत से ट्रेकर्स और साहसिक खेलों में रूचि रखने वाले लोग भी पूरे साल उत्तरकाशी के विभिन्न स्थानों पर पहुंचते हैं।
  • गर्मियों(अप्रैल से जून) के दौरान उत्तरकाशी का मौसम | Uttarkashi Weather In Summer |

अप्रैल महीने में पवित्र धाम, गंगोत्री और यमनोत्री मंदिर के कपाट अथवा द्वार खुलते हैं और इस दौरान देश भर के पर्यटक और यहां तक कि कई विदेशी पर्यटक भी यहाँ दर्शन के लिए आते हैं. यह मौसम पहाड़ी क्षेत्रों में समय बिताने के लिए उत्तम माना जाता है क्योंकि इस दौरान आप यहाँ अधिक गर्मी महसूस नहीं करेंगे.
  • मानसून(जुलाई से सितंबर) के दौरान उत्तरकाशी का मौसम | Uttarkashi Weather In Monsoon |

बरसात का मौसम में उत्तरकाशी या किसी भी पहाड़ी क्षेत्र में जाना खतरनाक हो सकता है. बरसात में यहाँ मौसम कभी भी बिगड़ सकता है. भारी बारिश के कारण सड़क का टूटना, भूस्खलन तथा ऊंचाई वाली जगहों पर बादलों का फटना जैसी आपदाएं होने का खतरा रहता है. और यही वह समय है जब नदियां यहाँ अपने उफान पर रहती हैं.
  • सर्दी(अक्टूबर से मार्च) और बर्फ़बारी के दौरान उत्तरकाशी का मौसम | Uttarkashi Weather In Winter |

सर्दियों में यहाँ कड़ाके की ठण्ड पड़ती है और अधिकतर पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फ़बारी भी होती है. कई जगहों पर तो बर्फ़बारी हो जाने से मार्ग और स्थान हफ़्तों तक बंद हो जाते हैं

कैसे पहुँचें उत्तरकाशी? How To Reach Uttarkashi by Road?

उत्तरकाशी तथा उत्तरकाशी जिले के सभी प्रमुख स्थान सड़क मार्गों द्वारा राज्य व देश के अन्य स्थानों  से अच्छी तरह जुड़े हैं. राज्य की राजधानी देहरादून से उत्तरकाशी की दूरी मात्र 145 किलोमीटर है जिसे तय करने में लगभग 5-6 घंटे का समय लग जाता है.

देहरादून और ऋषिकेश से उत्तरकाशी के लिए पर्याप्त संख्या में दैनिक बस और टैक्सी सेवा उपलब्ध है. इसके साथ ही आप देहरादून किराये पर से टैक्सी भी ले सकते है।

रेल और हवाई मार्ग द्वारा उत्तरकाशी पहुँचने के लिए निकटतम रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डा देहरादून में हैं। जहाँ से मात्र सड़क मार्ग द्वारा ही उत्तरकाशी पहुंचा जा सकता है।

 उत्तरकाशी में घूमने के लिए प्रमुख स्थान | Places To Visit Near Uttarkashi |

1 : प्रसिद्ध विश्वनाथ मंदिर
2 : नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (NIM)
3 : कुटेटी देवी मंदिर
4 : मनेरी बाँध
5 : डोडीताल
6 : दयारा बुग्याल
7 : हरसिल
8 : गंगोत्री मंदिर तथा गौमुख ग्लेशियर
9 : यमुनोत्री मंदिर
10 : केदारकांठा ट्रेक
11 : हनोल मंदिर

 
12 : नेलांग घाटी
हमारे फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।
हमारे इंस्टाग्राम पेज को फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करें.
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular